इस मात्र चार पंक्‍तियों के मंत्र में समाई है पूरी रामायण

 

रामकथा कईयों की लिखी हुई आपने पढ़ी या सुनी होगी, पर हम बात कर रहे हैं बाल्‍मीकी रचित चार पंक्‍तियों की रामायण की जिसे एक श्‍लोकी रामायण कहते हैं।

प्रमाणिक रामायण

भगवान राम को समर्पित दो ग्रंथ मुख्यतः लिखे गए है एक तुलसीदास द्वारा रचित ‘श्री रामचरित मानस’ और दूसरा वाल्मीकि कृत ‘रामायण’। इनके अलावा भी कुछ अन्य ग्रन्थ लिखे गए है पर इन सब में वाल्मीकि कृत रामायण को सबसे सटीक और प्रामाणिक माना जाता है। लेकिन बहुत कम लोग जानते है की श्री रामचरित मानस और रामायण में कुछ बातें अलग है जबकि कुछ बातें ऐसी है जिनका वर्णन केवल वाल्मीकि कृत रामायण में है।

 

एक श्‍लोक में संपूर्ण रामकथा

धर्म शास्त्रों के अनुसार, रामायण का पाठ करने से पुण्य मिलता है और पाप का नाश होता है, लेकिन वर्तमान समय में संपूर्ण रामायण पढ़ने का समय शायद ही किसी के पास हो। ऐसे में नीचे लिखे एक मंत्र का रोज विधि-विधान से जप करने से संपूर्ण रामायण पढ़ने का फल मिलता है। इस मंत्र को एक श्‍लोकी रामायण भी कहते हैं।

Share This Post

Post Comment